Never miss a story

Get subscribed to our newsletter


×
देश

दिल्ली की गलियों में सोशल डिस्टेंसिंग का सरेआम बन रहा तमाशा

दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने कहा, "त्योहारों का सीजन है, खरीदारी के लिए बाजारों में कई जगहों पर बहुत भीड़ भी है। लोगों से अपील है कि जब तक वैक्सीन न मिले अपने मास्क को हो वैक्सीन मानें और मास्क जरूर लगाएं।"

दिल्ली में कोरोना की एक और लहर तेजी से बढ़ रही है। (Unsplash)

राजधानी दिल्ली में एक ओर जहां तेजी से कोरोना संक्रमण बढ़ रहा है, वहीं त्योहारों का मौसम शुरू होते ही दिल्ली के बाजारों में बेतहाशा भीड़ भी बढ़ने लगी हैं। इस भीड़ में सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां सरेआम उड़ाई जा रही हैं। न तो दुकानदार सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कर रहे हैं और न ही खरीदार सावधानी बरत रहे हैं। पुरानी दिल्ली के सदर बाजार में दिवाली से जुड़े सजावटी सामान की होलसेल एवं खुदरा दुकाने हैं। यहां हजारों लोग खरीदारी के लिए प्रतिदिन आ रहे हैं। इसी को देखते हुए अब यहां कई इलाकों में वाहनों के प्रवेश पर प्रतिबंध लगा दिया गया है।

यहां ज्यादातर थोक दुकानदार हैं। ऐसे में यहां खरीदारी के साथ साथ सड़क पर ही लोडिंग का काम भी जारी था। सड़क की दोनों पटरियों पर चूड़ियां, आर्टिफिशियल ज्वेलरी और सजावटी सामान की दुकानों से घिरी थीं।


कोरोना के मामले 7000 के पार पहुंचने के बावजूद सैकड़ों लोग अभी भी इस बाजार में बिना मास्क के घूम रहे हैं। केवल खरीदार ही नहीं कई दुकानदार भी इस प्रकार की लापरवाही में शामिल हैं। सदर बाजार में दुकान चलाने वाले अनमोल टंडन ने कहा, “मार्केट एसोसिएशन कई बार सावधानी बरतने की अपील कर चुका है। बावजूद इसके कई दुकानदार एवं कर्मचारी अभी भी लापरवाही बरत रहे हैं।”

यह भी पढ़ें – इस दिवाली वोकल फॉर लोकल पर दिया जाएगा ज़्यादा ध्यान

एक अन्य दुकानदार रोहन जैन ने कहा, “बाजार में जितनी भीड़ है, उसको देखते हुए कोरोना से बचाव का कोई भी उपाय लागू ही नहीं किया जा सकता। न तो बाजार में और न ही दुकानों के अंदर सोशल डिस्टेंसिंग के लिए जगह बची है। हां मास्क एक अनिवार्यता है जिसका पालन अधिकांश लोग कर रहे हैं।”

करावल नगर से सदर बाजार खरीदारी करने आई सुनीता शर्मा और लक्ष्मी बोरा ने कहा, “यहां इतनी भीड़ है कि महज कुछ कदमों का फासला तय करने में ही दर्जनों व्यक्ति एक दूसरे को टच कर रहे हैं। ऐसे में सिर्फ मास्क पहनने से कितना बचाव हो पाएगा।”

त्योहारों का मौसम शुरू होते ही दिल्ली के बाजारों में बेतहाशा भीड़ भी बढ़ने लगी है। (Unsplash)

सरोजनी मार्केट शॉपकीपर्स एसोसिएशन के वाइस प्रेसिडेंट सुरजीत सिंह ने आईएएनएस को बताया, “महामारी में भीड़ का बहुत बुरा हाल हो चुका है। ग्राहकों को हम नहीं रोक सकते वो हमारी रोजी रोटी हैं। स्थानीय प्रशासन को इस पर संज्ञान लेना चाहिए और जल्द ही कोई ठोस कदम उठाने चाहिए।”

“मार्केट में कुल 200 दुकाने हैं जो एसोसिएशन से जुड़ी हुई हैं और करीब 200 ही सड़क किनारे बैठे पटरी वाले हैं। इनके अलावा जितने भी सड़क किनारे सामान बेच रहे हैं वो अवैध रूप से बाजार में मौजूद हैं।”

यह भी पढ़ें – पानी किया बर्बाद तो लगेगा जुर्माना

एनडीएमसी इंफोर्समेंट डायरेक्टर विजय गौतम ने आईएएनएस को बताया, “एनडीएमसी में हर दिन 30 से 40 चालान काटे जा रहे हैं। हम कल से अपने स्टाफ को बाजारों में माइक लेकर भेजेंगे जो कोरोना से बचाव को लेकर अनाउसमेंट भी करेंगे।”

सोमवार को राजधानी दिल्ली के सदर बाजार के अलावा चांदनी चौक, नई सड़क, दरीबा कलां, क्लॉथ मार्केट आदि सभी बाजारों में ऐसी ही भीड़ रही। यहां सैकड़ों लोग बिना मास्क के घूमते नजर आए।

दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन। (Twitter)

दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने कहा, “त्योहारों का सीजन है, खरीदारी के लिए बाजारों में कई जगहों पर बहुत भीड़ भी है। इसके अलावा भी कोरोना के मामले बढ़ने के कई अन्य कारण भी हैं। लोगों से अपील है कि जब तक वैक्सीन न मिले अपने मास्क को हो वैक्सीन मानें और मास्क जरूर लगाएं।”

चांदनी चौक में जहां खरीदारी करने के लिए भारी भीड़ नजर आई। वहीं सामान से लदा ठेला, गाड़ियां, दुकानों के आगे लगी पटरियां इसके अलावा स्वयं दुकानदारों द्वारा फुटपाथ पर किए गए अतिक्रमण के कारण लोगों को चलने का रास्ता तक नहीं मिला, जिससे भीड़ में और ज्यादा इजाफा हो गया।

यह भी पढ़ें – अयोध्या में भक्तों के लिए भगवान राम का लेज़र अवतार

अपनी शादी की खरीदारी करने दक्षिण दिल्ली से चांदनी चौक आए धनंजय ने कहा, “हम लोग पिछले 1 सप्ताह से भीड़ कम होने का इंतजार कर रहे थे। सुबह जल्दी पहुंचने के बावजूद हमें यहां बेहिसाब भीड़ का सामना करना पड़ा। बाजार में वाहनों की आवाजाही पूरी तरह से प्रतिबंधित है, बावजूद इसके यहां तो लोगों का जैसे हुजूम ही आ गया है।”

गौरतलब है कि बीते 24 घंटों के दौरान ही दिल्ली में 7745 कोरोना के नए मामले सामने आए हैं। इन्हीं 24 घंटों के दौरान 77 लोगों की कोरोना से मृत्यु हो गई। दिल्ली में अभी तक कोरोना से 6989 व्यक्तियों की मृत्यु हो चुकी है। दिल्ली में कोरोना की जो टेस्टिंग की गई उसमें 15.26 फीसदी लोग कोरोना पॉजिटिव निकले हैं। (आईएएनएस)

Popular

टेस्ला (Wikimedia Commons)

टेस्ला(Tesla) ने हाल ही में साइबरक्वाड(Cyberquad) नाम के बच्चों के लिए एक चार पहिया ऑल-टेरेन वाहन(All Terrain Vehicle) लॉन्च किया है। कंपनी ने दावा किया कि यह 8 साल और उससे अधिक उम्र के बच्चों के लिए उपयुक्त है।

ऑल-इलेक्ट्रिक साइबरक्वाड की कीमत $ 1,900 है। यह फिलहाल यूएस में टेस्ला वेबसाइट पर ऑर्डर करने के लिए उपलब्ध है और दो से चार सप्ताह में शिपिंग शुरू हो जाएगी।

Keep Reading Show less

15 दिसंबर को चित्रकूट में हिन्दू एकता महाकुंभ का आयोजन किया जा रहा है।(Twitter)

उत्तर प्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनाव(UP Assambly Election) से पहले भगवान राम की तपोभूमि चित्रकूट(Chitrakoot) सुर्खियों में है। दरअसल, श्रीतुलसी पीठाधीश्वर जगदगुरू रामभद्राचार्य महाराज ने 15 दिसम्बर को भगवान श्रीराम की तपोभूमि चित्रकूट में हिन्दू एकता महाकुंभ(Hindu Ekta Mahakumbh) का आयोजन कर रहे हैं। इसमें संघ प्रमुख मोहन भागवत(Mohan Bhagwat) को मुख्य अतिथि के रूप में आमांत्रित किया गया है। इस मौके पर प्रमुख वक्ता के रूप में यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ( yogi Adityanath) मौजूद रहेंगे। महाकुंभ में हिन्दू( एकता को धार मिलेगी, जो आगामी विधानसभा चुनाव का मुख्य आधार साबित होगा।

कार्यक्रम के संयोजक जगदगुरू रामभद्राचार्य के उत्तराधिकारी आचार्य रामचंद्र दास महाराज ने बताया कि हिन्दुओं(Hindu) की अस्मिता के साथ हो रहे खिलवाड़ को रोकने और उनकी एकजुटता के लिए यह हिन्दू एकता महाकुंभ(Hindu Ekta Mahakumbh) का आयोजन 15 दिसम्बर को किया जा रहा है। जिसमें देश भर के संतो और सांस्कृतिक एजेंडे को आगे बढ़ाने वाले धुरंधरों को बुलाया गया है। साथ ही साथ उन्होंने यह भी बताया कि इसमें देश भर के तमाम संतों और कला संस्कृति को आगे बढ़ाने वाली हस्तियों को बुलाया गया है।

Keep Reading Show less
योगी आदित्यनाथ, मुख्यमंत्री, उत्तर प्रदेश(Image: Yogi Adityanath, Twitter)

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) ने शुक्रवार को विश्व दिव्यांग दिवस (World Handicapped Day) के अवसर पर प्रत्येक जनपद में 100 दिव्यांगजनों को मोटराइज्ड ट्राइसाइकिल (Motorized Tricycle) दिये जाने की घोषणा की। उन्होंने कहा कि सरकार इसकी कार्रवाई युद्धस्तर पर कर रही है। उन्होंने इस मौके पर कहा कि दिव्यांगजनों (Handicapped) की प्रतिभा को निखारने और उनकी ऊर्जा को राष्ट्र के निर्माण में लगाने के लिए सरकार हर प्रकार का सहयोग करने के लिए प्रतिबद्ध होकर काम कर रही है।

साथ ही डॉ शकुंतला मिश्रा राष्ट्रीय पुनर्वास विश्विद्यालय के अटल ऑडीटोरियम में आयोजित कार्यक्रम में मुख्यमत्री योगी आदित्यनाथ ने दिव्यांगजनों के लिए काम करने वाली संस्थाओं को राज्य स्तरीय पुरस्कार बांटे। उन्होंने यहां दिव्यांगजनों को उपकरण का वितरण किया। इस अवसर पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दिव्यांगजनों की मदद के लिए काम करने वाली संस्थाओं से पुण्य के इस काम से जुड़ते हुए मानवीय संवेदना का परिचय देने की अपील की और शासन की योजनाओं का लाभ अधिक से अधिक लोगों तक पहुंचाने को कहा। इससे पहले अपने संबोधन की शुरूआत करते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सभी पुरस्कार प्राप्त करने वाले दिव्यांग बच्चों को हृदय से बधाई दी और इस फील्ड में काम कर रहीं संस्थाओं का अभिनन्दन किया।

Keep reading... Show less