Never miss a story

Get subscribed to our newsletter


×
देश

रसायन मुक्त उर्वरकों की उपयोगिता के बारे में किसानों को करें जागरूक: नरेंद्र मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए अपने संसदीय क्षेत्र वारणशी के भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के बूथ स्तर के कार्यकर्ताओं से बातचीत की।

5 राज्यों के विधानसभा चुनावों की तारीख़ की घोषणा के बाद कार्यकर्तओं के साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का पहला सवांद कार्यक्रम (Wikimedia Commons)


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए अपने संसदीय क्षेत्र वारणशी के भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के बूथ स्तर के कार्यकर्ताओं से बातचीत की। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भाजपा कार्यकर्ताओं से बात करते हुए कहा कि "उन्हें किसानों को रसायन मुक्त उर्वरकों के उपयोग के बारे में जागरूक करना चाहिए।"

नमो ऐप के जरिए प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने भाजपा के बूथ स्तर के कार्यकर्ताओं से बातचीत के दौरान बताया कि नमो ऐप में 'कमल पुष्प" नाम से एक बहुत ही उपयोगी एवं दिलचस्प सेक्शन है जो आपको प्रेरक पार्टी कार्यकर्ताओं के बारे में जानने और अपने विचारों को साझा करने का अवसर देता है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने नमो ऐप के सेक्शन 'कमल पुष्प' में लोगों को योगदान देने के लिए आग्रह किया। उन्होंने बताया की इसकी कुछ विशेषतायें पार्टी सदस्यों को प्रेरित करती है।


Chemical Free fertilizer,  Election2022, prime minister, uttar pradesh, प्रधान मंत्री ने कार्यकर्ताओं से किसानों को रसायन मुक्त उर्वरकों के उपयोग के बारे में जागरूक करने का किया आह्वान (Pixabay)


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी में कार्यकर्ताओं से बातचीत के दौरान महिला सशक्तिकरण, विश्वनाथ धाम गलियारे की बहाली, बुनियादी ढांचे, स्वास्थ्य विकास समेत कई अन्य मुद्दों पर बात की। उन्होंने कार्यकर्ताओं से चर्चा को आगे बढ़ाते हुए भाजपा के विशेष लघुदान अभियान के बारे में बात की और पार्टी के सदस्यों के साथ साथ लोगों को लघु योगदान के माध्यम से धन जुटाने के लिए आग्रह किया । प्रधानमंत्री ने कार्यकर्ताओं से बातचीत के दौरान पार्टी कार्यकर्ताओं से अनुरोध किया कि वें किसानों तक सरकार के लाभकारी योजनाओं को पहुंचाने का प्रयास करें। किसानों को सरकार के कल्याणकारी योजनाओं से अवगत कराएं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने केंद्र की कई योजनाओं के बारे में चर्चा की जो कि काशी के अधिकांश लोगों को लाभान्वित कर रही है।

यह भी पढ़ें: UP Election 2022 के पहले पार्टियों का पोस्टर युद्ध शुरू

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के इस वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में तकरीबन 10000 भाजपा कार्यकर्ताओं ने हिस्सा लिया। आगामी 5 राज्यों के विधानसभा चुनाव को देखते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पार्टी कार्यकर्ताओं से बातचीत शुरु कर दी है। चूनावी घोषणा के बाद कार्यकर्तओं के साथ प्रधानमंत्री का यह पहला सवांद कार्यक्रम था।
भारीतय चुनाव आयोग ने 5 राज्यों में विधानसभा चुनाव की तारीख का ऐलान कर दिया है। चुनाव आयोग ने 15 जनवरी तक रैलियों और रोड शो पर प्रतिबंध लगा दिया था लेकिन अब चुनाव आयोग ने प्रतिबंध की तारीख़ 15 जनवरी से बढ़ा कर 22 जनवरी तक कर दिया है।

IANS; Edited by: Abhay Sharma

Popular

पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी SI ने चुनावों में गड़बड़ी के लिए अपनी आतंकी शाखाएं सक्रिय कर दी हैं।

पंजाब(Punjab) में चुनावी प्रक्रिया को पटरी से उतारने और पंजाब में खालिस्तानी पदचिन्हों को बढ़ाने के उद्देश्य से, पाकिस्तान की इंटर-सर्विसेज इंटेलिजेंस (ISI) ने राज्य में और उत्तर के कुछ हिस्सों में और अधिक आतंकी गतिविधियों को अंजाम देने के लिए अपने आतंकी संगठनों को सक्रिय कर दिया है। प्रदेश, खुफिया एजेंसियों ने चेतावनी दी है।

खुफिया जानकारी के हवाले से सुरक्षा व्यवस्था के सूत्रों ने कहा कि आईएसआई प्रायोजित सिख आतंकी संगठन चुनावी रैलियों(Election Rallies) को निशाना बना सकते हैं और पंजाब, यूपी(Uttar Pradesh) और उत्तराखंड(Uttarakhand) के कुछ हिस्सों में चुनावी प्रक्रिया के दौरान कुछ महत्वपूर्ण नेताओं या वीवीआईपी को मारने का प्रयास कर सकते हैं।

Keep Reading Show less

शनिवार को चुनाव आयोग ने आगामी 5 राज्यों में होने वाले चुनाव की तारीखें घोषित कर दी हैं। (Wikimedia Commons)

भारत के चुनाव आयोग(Election Commision Of India) ने शनिवार को उत्तर प्रदेश(Uttar Pradesh), पंजाब(Punjab), उत्तराखंड(Uttarakhand), गोवा(Goa) और मणिपुर(Manipur) सहित पांच राज्यों में आगामी विधानसभा चुनावों के कार्यक्रम की घोषणा की। चुनाव 10 फरवरी, 2022 से शुरू होकर सात चरणों में होंगे, जबकि मतों की गिनती 10 मार्च, 2022 के लिए निर्धारित की गई है।

चुनाव कार्यक्रम घोषित करने के अलावा, भारत के मुख्य चुनाव आयुक्त सुशील चंद्रा ने बढ़ते कोविड -19 मामलों के मद्देनजर चुनाव संबंधी गतिविधियों पर विभिन्न प्रतिबंधों की भी घोषणा की। पोल पैनल ने कहा कि शारीरिक संपर्क को कम करने के लिए 15 जनवरी तक किसी भी रोड शो या शारीरिक रैली की अनुमति नहीं दी जाएगी और एक अभियान कर्फ्यू रात 8 बजे के बाद लागू होगा। पैनल ने यह भी कहा कि वह चुनाव वाले राज्यों में कोविड -19 स्थिति का विश्लेषण करने के बाद 15 जनवरी को कोविद -19 दिशानिर्देशों की समीक्षा करेगा।

Keep Reading Show less

भाजपा का मेन एजेंडा तीन अंतर सम्बंधित बिंदुओं पर केंद्रित है- सन्देश, संगठन और नेतृत्व (Wikimedia Commons)

भारतीय जनता पार्टी की हाल ही में दिल्ली में हुई राष्ट्रिय कार्यकारिणी की बैठक का प्रमुख एजेंडा तीन अंतर समन्धित बिंदुओं पर केंद्रित था- सन्देश, संगठन और नेतृत्व। जैसा की हम सब जानते हैं की इस साल उत्तर प्रदेश और गुजरात जैसे प्रमुख राज्यों में चुनाव है ऐसे में इन चुनावो में भाजपा की साख दांव पर लगी है और भाजपा इन्हे किसी भी हाल में जीतना चाहेगी।

इस वर्ष कोरोना की दूसरी लहर में कथित कुप्रबंधन के कारण मोदी सरकार की बहुत आलोचना हुई। अब जैसे की चुनाव नज़दीक हैं तो भाजपा अब इस आलोचना को दूर करने के तरीके की खोज में जुट गई है। भाजपा उच्च टीकाकरण, कोरोना काल के दौरान गरीबों को मुफ्त अनाज और वैक्सीन के ऊपर विपक्ष द्वारा फैलाई गई अफवाओं को आलोचना दूर करने के तरीके के तौर पर इस्तेमाल कर सकता है।

Keep reading... Show less