Never miss a story

Get subscribed to our newsletter


×
मनोरंजन

श्रेया घोषाल : नए ट्विटर सीईओ पराग अग्रवाल मेरे 'बचपन के दोस्त' हैं

श्रेया ने अपने और नए ट्विटर सीईओ पराग अग्रवाल के बीच पुरानी चैट को खोदने वाले प्रशंसकों पर प्रतिक्रिया व्यक्त की है।

श्रेया घोषाल, गायिका [Wikimedia Commons]

श्रेया (Shreya Ghoshal) ने अपने और नए ट्विटर सीईओ पराग अग्रवाल के बीच पुरानी चैट को खोदने वाले प्रशंसकों पर प्रतिक्रिया व्यक्त की है। गायिका ने एक ट्वीट में उन्हें 'बचपन का दोस्त' कहा है। घोषाल ने अपनी स्कूली शिक्षा आठवीं कक्षा तक रावतभाटा के एटोमिक एनर्जी सेंट्रल स्कूल नंबर 4 में की, जहां वह ट्विटर के वर्तमान सीईओ पराग अग्रवाल की सहपाठी थीं।

अग्रवाल की ट्विटर के नए सीईओ के रूप में नियुक्ति के बाद 37 वर्षीय गायिका सोशल मीडिया पर ट्रेंड करने लगी थीं।

सोशल मीडिया यूजर्स को दोनों के बीच पुराना आदान-प्रदान मिला।

दूसरा अग्रवाल का एक ट्वीट है, जिसमें लिखा है, "अच्छी डीपी, क्या हाल चाल हैं। (नाइस डीपी। हाउ इज इट गोइंग)।

'चिकनी चमेली' हिटमेकर (Shreya Ghoshal) ने प्रतिक्रिया देते हुए लिखा, "अरे यार तुम लोग कितना बचपन का ट्वीट निकला रहे हो। ट्विटर अभी लॉन्च हुआ है। 10 साल पहले! हम बच्चे थे! दोस्त एक दसरे को ट्वीट नहीं करते क्या? क्या टाइम पास चल रहा है ये?"


गायिका ने अपने दोस्त को भी इस उपलब्धि पर बधाई दी थी।

यह भी पढ़ें : नस्लवाद पर अपने पुराने ट्वीट को लेकर ट्रोल हुए नए ट्विटर सीईओ पराग अग्रवाल

उन्होंने ट्वीट किया, "बधाई पराग अग्रवाल। आप पर गर्व है। हमारे लिए बड़ा दिन, इस खबर का जश्न मना रही हूं।" (आईएएनएस)

Input: IANS ; Edited By: Manisha Singh

न्यूज़ग्राम के साथ Facebook, Twitter और Instagram पर भी जुड़ें!

Popular

स्वामी विवेकानंद (Swami Vivekananda) [Wikimedia Commons]

सन् 1863 में बंगाल के कायस्थ (शास्त्री) परिवार में जन्मे स्वामी विवेकानंद (Swami Vivekananda) का मूल नाम नरेंद्रनाथ दत्त था। उन्होंने पश्चिमी शैली के विश्वविद्यालय में शिक्षा प्राप्त की, जहाँ उन्होंने पश्चिमी दर्शन , ईसाई धर्म और विज्ञान को जाना। हिंदू आध्यात्मिकता के बारे में बात करने के लिए अमेरिका जाने से पहले खेतड़ी के महाराज अजीत सिंह ने उन्हें 'विवेकानंद' नाम दिया था।

वह रामकृष्ण के प्रमुख शिष्यों में से एक बन गए थे और उन्होंने समाज को सुधारने और इसे एक बेहतर जगह बनाने की कोशिश की थी। स्वामी जी भी ब्रह्म समाज का हिस्सा रहे थे और उन्होंने बाल विवाह को समाप्त करने और साक्षरता का प्रसार करने की कोशिश की थी।

Keep Reading Show less

अमेरिकी विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन(Twitter)

पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के प्रशासन(Donald Trump's Administration) में इस्लामिक कट्टरपंथियों से भरे हुए मुल्क पाकिस्तान को सबसे पहले दिसंबर 2018 में धार्मिक स्वतंत्रता का उल्लंघन(violation of religious freedom) करने के लिए कंट्री ऑफ पर्टिकुलर कॉन्सर्न (सीपीसी) की इस सूची में रखा गया इसके बाद 2020 में भी इसे बरकरार रखा था। लेकिन पाकिस्तान की सरकार को यह उम्मीद थी कि सत्ता परिवर्तन के बाद उसके दिन फिरेंगे। लेकिन बाइडेन प्रशासन ने इन उम्मीदों में पानी फेर दिया।

अमेरिकी विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन(Antony Blinken) ने धार्मिक स्वतंत्रता का उल्लंघन(violation of religious freedom) करने के लिए पाकिस्तान को कंट्री ऑफ पर्टिकुलर कॉन्सर्न (सीपीसी) के रूप में फिर से नामित किया है जिससे पाकिस्तान सरकार को झटका भी लगा है। पाकिस्तान के अलावा तालिबान को एक विशेष चिंता की इकाई के रूप में पुन: ब्रांडेड किया है। डॉन न्यूज की रिपोर्ट में इसकी जानकारी दी गई। डॉन न्यूज की रिपोर्ट में कहा गया है कि इस साल जनवरी में सत्ता में आए जो बाइडेन प्रशासन ने दो बदलावों के साथ पुरानी सूची को बरकरार रखा है, जिसमें रूस को शामिल किया गया है और सूडान को सीपीसी श्रेणी से हटा दिया गया है।

Keep Reading Show less
वीर दास , कॉमेडियन [Wikimedia Commons]

कॉमेडियन वीर दास (Vir Das) को अमेरिका में अपने शो के दौरान भारत में महिला सुरक्षा, धर्म, कोविड और राजनीति पर बयान देने की वजह से भारी रोष का सामना करना पड़ रहा है। कॉमेडियन के '' मैं दो भारत से आता हूं '' वाले बयान पर भारत की जनता तो नाराज है ही , साथ ही कई नेता भी इसकी खिलाफत कर रहे हैं।

इसी क्रम में अब मध्य प्रदेश के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने 18 नवम्बर 2021 (गुरुवार) को कहा है कि वे वीर दास (Vir Das) का कोई भी शो मध्य प्रदेश में नहीं होने देंगे। नरोत्तम मिश्रा का कहना है कि जब तक वीर दास अपने बयान पर माफ़ी नहीं माँग लेते तब तक उनके कार्यक्रमों की मध्य प्रदेश में नो इंट्री रहेगी। कांग्रेस नेता शशि थरूर के वीर दास के पक्ष में ट्वीट को देखते हुए गृहमंत्री ने यह भी आरोप लगाया कि वीरदास को कांग्रेस से समर्थन मिल रहा है।

Keep reading... Show less